SARVANAM KE BHED / PRAKAR

प्रयोग की दृष्टि से सर्वनाम के 6 प्रकार हैं-

  1. पुरूषवाचक - मैं, तू, वह, मैंने
  2. निजवाचक - आप
  3. निश्चयवाचक (संकेतवाचक) - यह, वह
  4. अनिश्चयवाचक - कोई, कुछ
  5. संबंधवाचक - जो, सो
  6. प्रश्नवाचक - कौन, क्या
सर्वनाम दो शब्दों के योग से बना है सर्व + नाम , अर्थात जो नाम सब के स्थान पर प्रयुक्त हो उसे सर्वनाम कहा जाता है।
कुछ उदाहरण से समझिये –
  • मोहन 11वीं कक्षा में पढ़ता है।
  • मोहन स्कूल जा रहा है।
  • मोहन के पिताजी पुलिस हैं।
  • मोहन की माताजी डॉक्टर है।
  • मोहन की बहन खाना बना रही है।
उपर्युक्त वाक्य में मोहन संज्ञा ) है इसका प्रयोग बार – बार हुआ है। बार – बार मोहन शब्द को दोहराना वाक्यों को अरुचिकर व कम स्तर का बनाता है। यदि हम एक वाक्य में मोहन ( संज्ञा ) को छोड़कर अन्य सभी जगह सर्वनाम का प्रयोग करें तो वाक्य रुचिकर व आकर्षक बन जाएंगे।
जैसे –
• मोहन 11वीं कक्षा में पढ़ता है।
• वह स्कूल जा रहा है।
• उसके पिताजी पुलिस हैं।
• और उसकी माताजी डॉक्टर हैं।
• उसकी बहन खाना बना रही है।
इस प्रकार हम संज्ञा के स्थान पर इस का प्रयोग कर सकते हैं।
SARVANAM KE BHED, PRAKAR
सर्वनाम

Post a Comment

0 Comments